Saina

Saina (Parineeti Chopra) Official Trailer

Saina Is Latest Upcoming Hindi Biopic Movie Starring By Parineeti Chopra. This Movie Is Releasing In Cinema House On 26 March 2021. This Biopic Is Directed By Amole Gupte While Produced By Bhushan Kumar, Krishan Kumar, Sujay Jairaj & Rasesh Shah. Official Trailer Of This Movie , Released By T-Series Youtube Channel.

Saina – Official Trailer

Gulshan Kumar & T-Series Films present in association with Front Foot Pictures, the official trailer of the upcoming bollywood movie “Saina” produced by Bhushan Kumar, Krishan Kumar, Sujay Jairaj & Rasesh Shah. The biopic, directed by Amole Gupte, starring Parineeti Chopra in and as SAINA, music by Amaal Mallik will release on 26th March 2021.

Teri Mitti

Teri Mitti (B Praak) Akshay Kumar – Lyrics

B Praak का यह दर्दभरा गाना Akshay Kumar और Parineeti Chopra की फिल्म केसरी (Kesari) का है जिसका नाम है – तेरी मिट्टी (Teri Mitti) | इस गाना के लिरिक्स राइटर है Manoj Muntashir जी जबकि म्यूजिक डायरेक्टर है Arko जी | इस गाना को Zee Music Company यूट्यूब चैनल से रिलीज़ किया गया है | निचे आप इस गाना को सुन सकते है –

Pal Pal Dil Ke Paas (Arijit Singh) Lyrics

तेरी मिट्टी में मिल जावा – लिरिक्स

तलवारो पे सर वार दिए
अंगारो में जिस्म जलाया है
तब जाके कही हमने सर पे
ये केसरी रंग सजाया है
ऐ मेरी जमीं अफसोस नहीं
जो तेरे लिए सौ दर्द सहे
महफूज रहे तेरी आन सदा
चाहे जान मेरी ये रहे ना रहे
हां मेरी जमीं महबूब मेरी
मेरी नस नस में तेरा इश्क बहे
फीका ना पड़े कभी रंग तेरा
जिस्मो से निकल के खून कहे
तेरी मिट्टी में मिल जावा
गुल बन के मैं खिल जावा
इतनी सी है दिल की आरजू
तेरी नदियों में बह जावा
तेरे खेतो में लहरावा
इतनी सी है दिल की आरजू

[म्यूजिक..]

सरसो से भरे खलिहान मेरे
जहाँ झूम के भंगड़ा पा नs सका
आबाद रहे वो गांव मेरा
जहाँ लौट के वापस जा नs सका
ओ वतना वे मेरे वतना वे
तेरा मेरा प्यार निराला था
कुर्बान हुआ तेरी अस्मत पे
मैं कितना नसीबो वाला था
तेरी मिट्टी में मिल जावा
गुल बन के मैं खिल जावा
इतनी सी है दिल की आरजू
तेरी नदियों में बह जावा
तेरे खेतो में लहरावा
इतनी सी है दिल की आरजू
केसरी …..!

[म्यूजिक..]

ओ हीर मेरी तू हसती रहे
तेरी आँख घड़ी भर नाम ना हो
मैं मरता था जिस मुखड़े पे
कभी उसका उजाला कम ना हो
ओ माई मेरी क्या फिक्र तुझे
क्यों आँख से दरिया बहता है
तू कहती थी तेरा चाँद हूँ मैं
और चाँद हमेशा रहता है
तेरी मिट्टी में मिल जावा
गुल बन के मैं खिल जावा
इतनी सी है दिल की आरजू
तेरी नदियों में बह जावा
तेरी फसलों में लहरावा
इतनी सी है दिल की आरजू