Rowatani Matha Patak Ke – हम माथा पटक के रो रहे है (Neelkamal Singh) Lyrics

Rowatani Matha Patak Ke Is Latest Bhojpuri Sad Song Sung By Neelkamal Singh & Shilpi Raj. This Song Is Written By Sonu Sudhakar While Music Composed By Raushan Hegde. It’s Released By Speed Records Bhojpuri Youtube Channel.

SongRowatani Matha Patak Ke
FeaturingNeelkamal Singh & Diksha Sharma
SingerNeelkamal Singh & Shilpi Raj
LyricsSonu Sudhakar
MusicRaushan Hegde
Copyright LabelSpeed Records Bhojpuri

Rowatani Matha Patak Ke (Hindi)

पटक के ! लटक के !
बूझो मेरी बातो को रोज रोज रातो को
करते हो क्यों परेशान
पिया मेरे साइड से करते है गाइड
है सबका मेरे पे ही ध्यान
अरे छत पे आ जाओ !
सुनो !
ध्यान !
बूझो मेरी बातो को रोज रोज रातो को
करते हो क्यों परेशान
क्या करे ?
पिया मेरे साइड से करते है गाइड
है सबका मेरे पे ही ध्यान
जनि किया करो कॉल बड़ा बाउर है माहौल
श्रीमान मेरे लगहि सो रहे है
क्या ?
सो रहे है !
तू मटक मटक के चली गयी
क्या ?
तू मटक मटक के चली गयी
हम माथा पटक के रो रहे है
जिस पेड़ के निचे मिलते थे
हम उसपे लटक के रो रहे है
बाक !

नई नवेली हवेली में आई हूँ
सासु ने पूछा तो सहेली बताई हूँ
अरे प्यार किया तो डरना क्या !
दूर अकेले मरना क्या !!
सिग्नल ग्रीन दे दो सीन करने आऊंगा
कह दूंगा दूर का रिलेशन का भाई हूँ
दूर का ! दूर का !
लेट नाईट ऑनलाइन रहती हो मलिकाईन
पिया कह कह के टेंशन में हो रहे है
हो रहे है !
ओ हो !
तू मटक मटक के चली गयी
तू मटक मटक के चली गयी
हम माथा पटक के रो रहे है
अच्छा !
तेरा मरद तो मुझको मिला नहीं
आपन कपड़ा पटक के धो रहे है

माथे पे मेरे पतिव्रता का टिका है
पिया के आगे तेरा प्यार फीका फीका है
फीका तो लगेगा !
समझे ?
अब लगेगा !
फीका है !
तेरा दीवाना तेरे गम में ही पीता है
सोनू सुधाकर झंडू बाम लेखा जीता है
बाम लेखा जीता है !
करो बात पे अमल तेरे कारण नीलकमल
बेरी बेरी मेरा फोनवा टो रहे है
टो रहे है !
तू मटक मटक के चली गयी
तो !
तू मटक मटक के चली गयी
हम माथा पटक के रो रहे है
जिस वृक्ष के निचे मिलते थे
उसका टहनी पकड़ के सो रहे है
गिर जाओगे !
आँखों से जल दे रहा हूँ !

Leave a Reply