Iss Baarish Mein (Yasser Desai) Lyrics In Hindi

Iss Baarish Mein Is New Hindi Love Song Sung By Yasser Desai & Neeti Mohan. This Song Is Written By Sharad Tripathi While Music Composed By Ripul Sharma. It’s Released By Saregama Music Youtube Channel.

SongIss Baarish Mein
FeaturingJasmin Bhasin & Shaheer Sheikh
SingerYasser Desai & Neeti Mohan
LyricsSharad Tripathi
MusicRipul Sharma
Copyright LabelSaregama Music

Iss Baarish Mein (Hindi)

सावन की एक भूली बिसरी कहानी
वो पल वो लम्हे और आँखों का पानी

सावन की एक भूली बिसरी कहानी
वो पल वो लम्हे और आँखों का पानी
बादल के शोरो में बारिश की आहट
भींगे लबो की वो कंपकंपाहट
उन लम्हो को फिर जीने की फरियाद कर रहा हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ
उन लम्हो को फिर जीने की फरियाद कर रही हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रही हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रही हूँ

मन को भिगोती अलहड़ ये बूँदें
एहसास में तेरे आँखों को मूंदें
मैं भींगता हूँ छुपाने को आंसू
दिख जाए ना ये जमाने को आंसू
तेरी बातों से अपने दिल को आबाद कर रहा हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ

खुशबु लिए आई गीली हवाएं
कानो में किस्से तेरे गुनगुनाएं
मेरा हाथ थामे मुझे तकते रहना
मेरी फिक्र में रात भार जगते रहना
देखो जरा ये इठलाते बादल
कुछ इस कदर थे हम दोनों पागल
मुझे दिल की बातें बताना हैं तुमको
बारिश में कस के भींगोना हैं तुमको
उन लम्हो को फिर जीने की फरियाद कर रही हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रही हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रही हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ
इस बारिश में मैं बस तुमको याद कर रहा हूँ

Yasser Desai More Hindi Songs :-

Iss Baarish Mein (English)

Saavan Ki Ek Bhuli Bisri Kahani
Wo Pal Wo Lamhe Aur Aankho Ka Pani

Saavan Ki Ek Bhuli Bisri Kahani
Wo Pal Wo Lamhe Aur Aankho Ka Pani
Baadal Ke Shoro Me Baarish Ki Aahat
Bhinge Labo Ki Wo Kapkapahat
Un Lamho Ko Phir Jine Ki Fariyaad Kar Raha Hun
Is Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hun
Is Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hun
Un Lamho Ko Phir Jeene Ki Fariyad Kar Rahi Hun
Is Barish Me Main Bas Tumko Yaad Kar Rahi Hun
Is Barish Me Main Bas Tumko Yaad Kar Rahi Hun

Man Ko Bhigoti Alhad Ye Bunde
Aehsaas Me Tere Aankho Ko Munde
Main Bhingta Hun Chhupane Ko Aasu
Dikh Jaye Na Ye Jamane Ko Aasu
Teri Baato Se Apne Dil Ko Aabad Kar Raha Hun
Is Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hun
Is Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hun

Khushboo Liye Aai Gili Hawaye
Kaano Me Kisse Tere Gungunaye
Mera Hath Thame Mujhe Takte Rahna
Meri Fikr Me Raat Bhar Jagte Rahna
Dekho Jara Ye Ithalate Baadal
Mujhe Dil Ki Baate Batana Hai Tumko
Baarish Me Kas Ke Bhigona Hai Tumko
Un Lamho Ko Fir Jine Ki Fariyad Kar Rahi Hu
Iss Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Rahi Hu
Iss Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Rahi Hu
Iss Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hu
Iss Baarish Mein Main Bas Tumko Yaad Kar Raha Hu

Leave a Comment