Bhukhal Bani Pidiya Barat (Pramod Premi Yadav) Lyrics

Pramod Premi Yadav और Shilpi Raj का यह धोबी गीत Angle Music Official Channel से रिलीज़ किया गया है जिसका नाम है – भूखल बानी पीड़िया बरत (Bhukhal Bani Pidiya Barat) | इस गाना को लिखे है Krishna Bedardi जी जबकि म्यूजिक दिए है Satrudhan,Vikash,On Parti & Shankar Singh जी | निचे आप इस गाना को सुन सकते है –

Majanua Hamar (Pramod Premi Yadav) Lyrics

रोजे रोजे चुम्मावा के लत – लिरिक्स

बाह भाई बाह !
अरे जिओ मास्टर …!
हां नैनो की दो बात नैना जाने जाने है
सपनो की बात तो नैना जाने है
चलs सोना जी के लगे सीतामढ़ी
दिल की बाते धड़कन जाने है
जिस पे गुजरे वो तन जाने है
नैनो की दो बात नैना जाने जाने है
हां हां !
सपनो की बात तो नैना जाने है
ऐ अप्पू ! अरे चलs हो
नैनो की दो बात नैना जाने जाने है
सपनो की बात तो नैना जाने है

ट्रिंग ! ट्रिंग !
ट्रिंग ! ट्रिंग !
ट्रिंग ! ट्रिंग !
हेलो ! हेलो ..!
हेलो ! भईया …?
चिन्हत नईखु का ?
अरे ना ना ना हम चिन्ह गईनी चिन्ह गईनी
आ काहे हो ?
आ फोनवा कs बेरा करेनी तू फोनवा काहे नईखु उठावत ?
जानतानी !
आज हम पीड़िया बरत भूखल बानी नs !
पीड़िया भुखतारु किरिया धाराके !
जवन लत लगा देले बाड़ू की हमार गत हो जाता
ऐ जी सुनी ना !
आज भर जाए दी
नो कोम्प्रोमाईज़ !!

ऐ हो हमार सोनावा करs जनि फोनवा
चुम्मा के धरs जनि रट ऐ हो जान भूखल बानी
ऐ हो हमार सोनावा करs जनि फोनवा !
चुम्मा के धरs जनि रट ऐ हो जान भूखल बानी !!
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी !
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी !

तोहार सब बात ठीक बा
बाकी ई बतावs की तू हमार फोन काहे तू नईखु उठावत
सुनतानी !
खीर बनावत रनी हs नs !
खीर बनावs तारु तू हमार दिल चिर के
हई लs सुनs !
का कहतानी बोली ?

फोनवा धरईनी भईल बा बेचैनी
कबे से बानी अखरत तुहि धरवले हो बाड़ू
फोनवा धरईनी भईल बा बेचैनी !
कबे से बानी अखरत तुहि धरवले हो बाड़ू !!
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
तोहरे सब कारनामा हs !!
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !

बाह भईया बाह शत्रुधन जी !
पिंटू जी अरे बनs रह हो !!
ऐ रवि ..!
रामसेवक भाई से शिकायत करs एकर !
चन्दन हो !
ऐ ! रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू

ऐ जान सुनs ना हमरो कुछ मजबूरी बा !
ना ना ना ना ना ना ..!
तोहार मजबूरी हs तs हमरो जरुरी हs
अरे मान जाईये ना प्लीज !
गुस्सा थूक दीजिये और खा लीजिये !
खाई ?
हम तोरा के खोर खोर के खाईब !
खाली भेटा जो हमरा के !!
आधा सुई तs हेल गईल
तनी मनी अउरी मन मना ली

जानू आज भर मन के मनालs नु हो
जानू आज भर मन के मनालs नु हो
जानू आज भर मन के मनालs नु हो !
जानू आज भर मन के मनालs नु हो !!
देखिये ज्यादा आप रुलाइयेगा तो हम खाना वाना नहीं खाएंगे
का कहतारु ?
अरे ना ना पगली !
हम मान गईनी खाना भी खा लेहनी !
मगर तुहो खाना खा लिहs !!
हम खा लेहनी तुहो जान खा लs ना हो
हम खा लेहनी तुहो जान खा लs ना हो
हम खा लेहनी तुहो जान खा लs ना हो !
हम खा लेहनी तुहो जान खा लs ना हो !!
लव यू सोना !
उम्मा …! कितना मानते हो ?
अच्छा बतावs सोना तोहार मुँह काहे सुखल बा ?
तू बाड़ू भूखल हम बानी सुखल
काहे जान ?
ओह हो हो हो ..!
गिरनी एके करवट तुहि धरवले हो बाड़ू
तs एने हम बानी नs !
अरे तू बाड़ू भूखल हम बानी सुखल
गिरनी एके करवट तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !!

रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !!
अरे ऐ जान !
अरे का कहतारु ?
अब जान का कहले बाड़ू ?
परान लेबू का हमार ?
अरे ई पीड़िया भईया खातिर भूखल बानी नs !
तs भईया खातिर भूखल बानी जानतानी !
आ हमरा खातिर कुछु ना ?
अरे रउवा खातिर चउथ भुखब !
अब पराने निकल जाई तs भूख के का करबे रे पगली ?
अरे अईसन मत बोली !
काल सबेरे घटवा पे आई ना !
ओहिजे मिलल जाई !!

कृष्णा बेदर्दी प्रमोद राजा नु हो
कृष्णा बेदर्दी प्रमोद राजा नु हो
आ हां हां …!
कृष्णा बेदर्दी प्रमोद राजा नु हो !
सोना हो ..!
कृष्णा बेदर्दी प्रमोद राजा नु हो !!
आज हमरा के तू बहुत बड़ा सजा दे देहलू
का ?
अब सहात बा ना हमरा ले
आ बाक रउवा अईसन बात करे नी !
अब तs खतमे हो गईल सुबेरे मिलही के बा !!
आज दे देलु घनघोर साजा नु हो
आज दे देलु घनघोर साजा नु हो
आज दे देलु घनघोर साजा नु हो !
आज दे देलु घनघोर साजा नु हो !!
अरे रंजीत लाल के हाल बिगड़लू
ओह हो हो हो …!
माहुर खानी लागे शरबत
पी जाई का रे ?
तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी !
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू
रोजे रोजे चुम्मावा के लत तुहि धरवले हो बाड़ू !
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी
आज भर पीड़िया बरत ऐ हो जान भूखल बानी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *