Ankhiya Ke Lor (Pawan Singh) Lyrics

Pawan Singh का यह नवरात्री विदाई गीत Wave Music यूट्यूब चैनल से रिलीज़ किया गया है जिसका नाम है – अंखिया के लोर (Ankhiya Ke Lor) | इस गाना को लिखे है विनय बिहारी और विभाकर पांडेय जी जबकि म्यूजिक दिए है छोटे बाबा जी | निचे आप इस गाना का वीडियो देख सकते है –

Maai Ke Aarti Utaru Re (Pawan Singh) Lyrics

अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई – लिरिक्स

अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे
हां ..!
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे
धक धक करेजा करे कहे माई माई रे
कहे माई माई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे

[म्यूजिक..]

कईसे जियब जब तू निकलबु घर से
इहे बोलs मिलबु तू कवने दर पे
हां ..!
कईसे जियब जब तू निकलबु घर से
खाली इहे बोलs मिलबु तू कवने दर पे
पता मांगी पुत्तर बनके दे दs तू बताई रे
दे दs तू बताई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे

[म्यूजिक..]

दिल ना लागी देले बाड़ू ममता के छाव हो
बानी पुजले माई दस दिन तोहार दुनो पाँव हो
दिल ना लागी देले बाड़ू ममता के छाव हो
बानी पुजले माई दस दिन तोहार दुनो पाँव हो
तुहि कहs पवन कईसे सहीहे जुदाई रे
सहीहे जुदाई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे छुपावल ना जाई रे
अंखिया के लोर हमसे